इस्‍लामाबाद, एएनआइ। पाकिस्‍तान की आतंक निरोधी कोर्ट ने टेरर फंडिंग मामले में मुंबई बम धमाकों के मास्टर माइंड और जमात-उद-दावा के मुखिया को साढ़े 10 साल की सजा सुनाई है। वहीं अब्‍दुल रहमान मक्‍की को छह महीने की सजा सुनाई है। इससे पहले एफएटीएफ में कार्रवाई के डर से हाफिज सईद की गतिविधि‍यों पर प्रतिबंध लगा दिया था। कोर्ट में पेशी के दौरान सुरक्षा के कड़े प्रबंध किए गए थे।  

इससे पहले पाकिस्तान की आतंक निरोधी कोर्ट ने हाफिज सईद के प्रवक्ता को 32 साल की सजा सुनाई थी। जमात-उद-दावा प्रवक्ता याहा मुजाहिद था। यह सजा टेरर फंडिंग मामले में हुई है। कोर्ट ने जमात-उद-दावा से जुड़े दो अन्य लोगों को भी सजा सुनाई थी। इसमें हाफिज का भतीजा प्रोफेसर हाफिज अब्दुल रहमान मक्की भी शामिल था। उसे एक साल की सजा सुनाई गई थी।